संदेश

August, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

... पता ही नहीं चला.

चित्र
बारिश की बूंदे  गिरती लगातार  रोक देती हैं  गति जिंदगी की  और बहा ले जाती हैं  अपने साथ  कभी दर्द  तो  कभी खुशी भी  वक्त संग संग  बहता है  और नहीं  रूकता  अपनी  आदत के अनुसार  और बूंदे  कभी  दर्द मिटाती हैं  कभी  खुशी चुराती हैं  और कैसे वक्त को  बहा ले जाती हैं  कुछ ऐसे  कि  मुंह से बस  यही  निकलता है  कि  कब वक्त  बीत गया  पता ही नहीं चला. 
शालिनी कौशिक  (कौशल) 

राजीव गांधी :अब केवल यादों में - शत शत नमन

चित्र
एक  नमन  राजीव  जी  को  आज उनकी जयंती के अवसर पर.राजीव जी बचपन से हमारे प्रिय नेता रहे आज भी याद है कि इंदिरा जी के निधन के समय हम सभी कैसे चाह रहे थे कि राजीव जी आयें और प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठ जाएँ क्योंकि ये बच्चों की समझ थी कि जो जल्दी से आकर कुर्सी पर बैठ जायेगा वही प्रधानमंत्री हो जायेगा.तब हमारे दिमाग की क्या कहें वह तो उनके व्यक्तित्व पर ही मोहित था जो एक शायर के शब्दों में यूँ था- ''लताफत राजीव गाँधी,नफासत राजीव गाँधी ,          थे सिर से कदम तक एक शराफत राजीव गाँधी , नज़र आते थे कितने खूबसूरत राजीव गाँधी.'' राजीव जी का  जन्म २० अगस्त १९४४ को हुआ था और राजनीति से कोसों दूर रहने वाले राजीव जी अपनी माता श्रीमती इंदिरा जी के  कारण राजनीति में  आये और देश को पंचायत राज और युवा मताधिकार जैसे उपहार उन्होंने दिए .आज  उनकी जयंतीके अवसर पर मैं उन्हें याद करने से स्वयं को नही रोक पाई किन्तु जानती हूँ कि राजीव जी भी राजनीति में आने के कारण बोफोर्स जैसे मुद्दे का कलंक अपने माथे पर लगाये २१ मई १९९१  को एक आत्मघाती हमले का शिकार होकर हम सभी को छोड़ गए आज भी याद है वह रात …

शत शत नमन शंकर दयाल शर्मा जी को

चित्र
आज जन्मदिन है देश के  नौवें राष्ट्रपति  डाक्टर शंकर दयाल शर्मा जी का और वे सदैव मेरे लिए श्रद्धा के पात्र रहेंगे क्योंकि उनके बारे में जो सबसे महत्वपूर्ण है वह ये कि मुझे अच्छी तरह से याद है कि देश के प्रथम नागरिक के पद से जब उनकी सेवानिवृति का अवसर आया तो उनके चेहरे पर तनिक भी विषाद  नहीं था बल्कि थी हमेशा की तरह मुस्कान। आज उनके जन्मदिन के शुभ अवसर पर मैं आपके और अपने लिए विकिपीडिया से कुछ जानकारी जुटा  लायी हूँ और चाहती हूँ कि आप भी मेरी तरह इन महान शख्सियत को ऐसे समय में याद करें और नमन करें जब स्वयं को देश पर थोपने वाले नेताओं की केंद्र में भीड़ बढती जा रही है। तो लीजिये आप भी जानिए हमारे देश को गौरवान्वित  और स्वयं किसी भी घमंड से दूर रहने वाले सीधे सरल इन्सान शंकर दयाल शर्मा जी के बारे में -
शंकरदयाल शर्माhttp://hi.wikipedia.org/s/17j मुक्त ज्ञानकोष विकिपीडिया से शंकरदयाल शर्माभारत के नवें राष्ट्रपति कार्य काल
२५ जुलाई१९९२ – २५ जुलाई१९९7उप राष्ट्रपति  कोच्चेरी रामण नारायणनपूर्ववर्तीरामस्वामी वेंकटरमणउत्तरावर्तीकोच्चेरी रामण नारायणनजन्म१९ अगस्त१९१८
भोपालमध्यप्रदेशभारतमृत्यु२६ द…