रविवार, 15 अप्रैल 2012

नारियां भी कम भ्रष्ट नहीं.


नारियां भी कम भ्रष्ट नहीं.

10 Most Corrupt Indian Politicians10 Most Corrupt Indian Politicians                              दिल्ली  एम्.सी.डी. के चुनाव  में महिलाओं को ५०%आरक्षण दिया गया है और ये कयास  लगाये  जा  रहे  हैं  कि शायद   इस तरह भ्रष्टाचार को कम करने में मदद  मिलेगी  जबकि  मेरे  विचार  में ये कोरी कल्पना मात्र है क्योंकि भ्रष्टाचार का किसी से भी दूर  या पास का रिश्ता नहीं है वह नर   हो या नारी किसी के लिए भी पराये या अपने का भाव नहीं रखता है जो भी इसे अपना मानता है वह उससे ही जुड़ जाता है.ऊपर  मैंने  जिन  भारतीय नेत्रियों के चित्र यहाँ संकेत मात्र हेतु लगाये हैं ये भी नारी हैं और इनके जैसी और भी बहुत सी नारियां है  जो इस पुण्य कार्य  में लगी हैं.भला  हम नारियों को कम भ्रष्ट कहकर क्यों हर  काम की तरह यहाँ भी उनकी क्षमता को कम आंकते हैं.
   और इस सच्चाई से भी हम इंकार नहीं कर सकते कि कितनी ही गृहणियां  अपने पतियों को भ्रष्टाचार  के लिए उकसाती हैं और अपनी इच्छाओं को पूरा करने हेतु दबाव डालती हैं.
              फिर भी मैं इस प्रयास की तारीफ ही करूंगी की आखिर नारियों को आगे बढ़ने  के लिए सरकार  ने कुछ स्वस्थ पहल तो की अब लोगों की आकांक्षाओं पर खरी उतरना  नारियों के ऊपर है और मैं आशा करती हूँ वे अपने से की जा रही आशाओं पर खरी उतरेंगी.
                       अग्रिम शुभकामनायें.
                                शालिनी कौशिक 
                                         {कौशल}

31 टिप्‍पणियां:

अरूण साथी ने कहा…

भ्रष्टाचार में लिंग कहां से तलाश रहे है जी, यह तो सर्वथा उभयलिंगी का काम है..

शिखा कौशिक ने कहा…

YOU ARE VERY RIGHT .THESE TYPE OF WOMAN LEADERS HAVE MADE A HURDLE IN THE WAY OF WOMAN EMPOWERMENT .GREAT ARTICLE .THANKS

M VERMA ने कहा…

भ्रष्ट सिर्फ भ्रष्ट होता है नर या नारी नहीं

Sunil Kumar ने कहा…

अरुण जी सहमत ......

dheerendra ने कहा…

कितनी ही गृहणियां अपने पतियों को भ्रष्टाचार के लिए उकसाती हैं और अपनी इच्छाओं को पूरा करने हेतु दबाव डालती हैं.
शालनी जी,...आपने बिलकुल सही कहा,...
यहाँ पर भी उनके भ्रष्टाचार को समानता से मापा जाए,...
बेहतरीन पोस्ट.....
आपका फालोवर बन गया हूँ,आप भी बने मुझे खुशी होगी,....आभार
.
MY RECENT POST...काव्यान्जलि ...: आँसुओं की कीमत,....

रविकर फैजाबादी ने कहा…

@ भ्रष्टाचार में लिंग कहां से तलाश रहे है जी, यह तो सर्वथा उभयलिंगी का काम है.

vaah vaah |

डा.राजेंद्र तेला"निरंतर"(Dr.Rajendra Tela,Nirantar)" ने कहा…

beimaanon sirf beimaan hotaa hai

राजन ने कहा…

लेकिन फिर भी मैं कहुँगा कि महिलाओं का हाल फिलहाल तो तुलनात्मक रुप से अच्छा हैं अब चाहे इसका कारण महिलाओं का कम बेईमान होना हो या पुरुषों की तुलना में अवसरों की कम उपलब्धता उदाहरण के लिए आप ट्रेफिक पुलिस में ही महिला और पुरुष सिपाहियों को देख लीजिए.लेकिन हाँ ये पक्का हैं कि कुछ ही समय बाद महिलाएँ इस क्षेत्र(भ्रष्टाचार) में भी पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने लगेंगी.
इसलिए फिकर नॉट शालिनी जी हमें महिलाओं की क्षमता पर पूरा भरोसा है :)

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

स्त्री हो या पुरुष सभी धन जुटाने के लोभी होते हैं .....

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

भ्रष्टाचारी तो स्वयं में एक उपाधि है, उसे औरों से क्यों जोड़ना।

ali ने कहा…

बुरी आदतें बुरी भले ही हों पर उनमें एक अच्छाई भी होती है...

कि वे धर्म / जाति / भाषा / स्थानीयता और लिंग भेद नहीं करतीं :)

Anita ने कहा…

नारियों को अवश्य ही समाज में भ्रष्टाचार को खत्म करने में अपनी भूमिका निभानी चाहिए.

Pallavi ने कहा…

सही है, भरष्टाचार में कोई कम नहीं न नर नारी...सहमत हूँ आपकी लिखी बातों से आभार

Rekha Joshi ने कहा…

Corruption has become apart of life,no one is different,may it be men or women.A great blog ,very well written.

Rekha Joshi ने कहा…

शालिनी जी ,सादर नमस्ते ,भ्रष्टाचार आज जिंदगी का हिस्सा बन चुका है ,चाहे वो नारी हो यां पुरुष ,हर कोई इसमें लिप्त है |एक बहुत ही अच्छा लेख

Rekha Joshi ने कहा…

very well written ,I agree to you anyone can be corrupt,man or woman.

veerubhai ने कहा…

'corruption is a global phenomina '-said Indira Gandhi.

div ने कहा…

आदरनीय शालिनी जी,
माफ़ी चाहूंगी आप के ब्लॉग मे आप की रचनाओ के लिए नहीं अपने लिए सहयोग के लिए आई हूँ | मैं जागरण जगंशन मे लिखती हूँ | वाहन से किसी ने मेरी रचना चुरा के अपने ब्लॉग मे पोस्ट किया है और वहाँ आप का कमेन्ट भी पढ़ा |मैंने उन महाशय के ब्लॉग मे कमेन्ट तो किया है मगर वो जब चोरी कर सकते है तो कमेन्ट को भी डिलीट कर सकते है |मेरा मकसद सिर्फ उस चोर के चेहरे से नकाब उठाने का है | आप से सहयोग की उम्मीद है | लिंक दे रही हूँ अपना भी और उन चोर महाशय का भी
http://div81.jagranjunction.com/author/div81/page/4/


http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.in/2011/03/blog-post_557.html

div ने कहा…

आदरनीय शालिनी जी,
माफ़ी चाहूंगी आप के ब्लॉग मे आप की रचनाओ के लिए नहीं अपने लिए सहयोग के लिए आई हूँ | मैं जागरण जगंशन मे लिखती हूँ | वाहन से किसी ने मेरी रचना चुरा के अपने ब्लॉग मे पोस्ट किया है और वहाँ आप का कमेन्ट भी पढ़ा |मैंने उन महाशय के ब्लॉग मे कमेन्ट तो किया है मगर वो जब चोरी कर सकते है तो कमेन्ट को भी डिलीट कर सकते है |मेरा मकसद सिर्फ उस चोर के चेहरे से नकाब उठाने का है | आप से सहयोग की उम्मीद है | लिंक दे रही हूँ अपना भी और उन चोर महाशय का भी
http://div81.jagranjunction.com/author/div81/page/4/


http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.in/2011/03/blog-post_557.html

div ने कहा…

आदरनीय शालिनी जी,
माफ़ी चाहूंगी आप के ब्लॉग मे आप की रचनाओ के लिए नहीं अपने लिए सहयोग के लिए आई हूँ | मैं जागरण जगंशन मे लिखती हूँ | वाहन से किसी ने मेरी रचना चुरा के अपने ब्लॉग मे पोस्ट किया है और वहाँ आप का कमेन्ट भी पढ़ा |मैंने उन महाशय के ब्लॉग मे कमेन्ट तो किया है मगर वो जब चोरी कर सकते है तो कमेन्ट को भी डिलीट कर सकते है |मेरा मकसद सिर्फ उस चोर के चेहरे से नकाब उठाने का है | आप से सहयोग की उम्मीद है | लिंक दे रही हूँ अपना भी और उन चोर महाशय का भी
http://div81.jagranjunction.com/author/div81/page/4/


http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.in/2011/03/blog-post_557.html

Sumit ने कहा…

meri dost ki taraf se ek msg :
माफ़ी चाहूंगी आप के ब्लॉग मे आप की रचनाओ के लिए नहीं अपने लिए सहयोग के लिए आई हूँ | मैं जागरण जगंशन मे लिखती हूँ | वहाँ से किसी ने मेरी रचना चुरा के अपने ब्लॉग मे पोस्ट किया है और वहाँ आप का कमेन्ट भी पढ़ा |मैंने उन महाशय के ब्लॉग मे कमेन्ट तो किया है मगर वो जब चोरी कर सकते है तो कमेन्ट को भी डिलीट कर सकते है |मेरा मकसद सिर्फ उस चोर के चेहरे से नकाब उठाने का है | आप से सहयोग की उम्मीद है | लिंक दे रही हूँ अपना भी और उन चोर महाशय का भी
http://div81.jagranjunction.com/author/div81/page/4/


http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.in/2011/03/blog-post_557.html

Sumit ने कहा…

meri dost ki taraf se ek msg :
माफ़ी चाहूंगी आप के ब्लॉग मे आप की रचनाओ के लिए नहीं अपने लिए सहयोग के लिए आई हूँ | मैं जागरण जगंशन मे लिखती हूँ | वहाँ से किसी ने मेरी रचना चुरा के अपने ब्लॉग मे पोस्ट किया है और वहाँ आप का कमेन्ट भी पढ़ा |मैंने उन महाशय के ब्लॉग मे कमेन्ट तो किया है मगर वो जब चोरी कर सकते है तो कमेन्ट को भी डिलीट कर सकते है |मेरा मकसद सिर्फ उस चोर के चेहरे से नकाब उठाने का है | आप से सहयोग की उम्मीद है | लिंक दे रही हूँ अपना भी और उन चोर महाशय का भी
http://div81.jagranjunction.com/author/div81/page/4/


http://kuchtumkahokuchmekahu.blogspot.in/2011/03/blog-post_557.html

अफसर पठान (afsarpathan) ने कहा…

सच कहने का जी तो करता है,
क्या करूं हौसला नहीं होता!
आपके हौसले व जज्बे को सलाम!

अफसर पठान (afsarpathan) ने कहा…

सच कहने का जी तो करता है,
क्या करूं हौसला नहीं होता!
आपके हौसले व जज्बे को सलाम!

यशवन्त माथुर ने कहा…

कल 23/04/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
धन्यवाद!

यशवन्त माथुर ने कहा…

पिछली टिप्पणी मे दिनांक की की गलत सूचना के लिए क्षमा करें---
कल 24/04/2012 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल (विभा रानी श्रीवास्तव जी की प्रस्तुति में) पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
धन्यवाद!

Amrita Tanmay ने कहा…

सहमत हूँ ..

उपासना सियाग ने कहा…

सही कहा आपने ....

Chandani ने कहा…

bhrashtachaar na to aadmi dekhta hai na to aurat....shayad seerf politics aur politicians ko pehchanta hai!

Chandani ने कहा…

bhrashtachaar na to aadmi dekhta hai na to aurat....shayad seerf politics aur politicians ko pehchanta hai!

anil kumar singh ने कहा…

bhrastachar ka koe ling(sex)nahi hota aur n jati n dharm,ye alg bat hai ki ab "aaj bhrastachar rupi nye dharm ke matavlmbio ki tadat teji se badh rahi hai"meri hi kvita ki ek pankti: "riswt ko hk batate jayeeye, nakhde lugaye ke uthate jayeeye......"

... पता ही नहीं चला.

बारिश की बूंदे  गिरती लगातार  रोक देती हैं  गति जिंदगी की  और बहा ले जाती हैं  अपने साथ  कभी दर्द  तो  कभी खुशी भी  ...