भगवा=एकता


      सरकारी भवनों का रंग तो भाजपानीत सरकार ने पलटा ही था अब भाजपा इस देश को पूर्णतया भगवा रंग में रंगने की साज़िश को अंजाम देने पर आ गयी है जिससे सारे विश्व में भारत की पहचान भगवा रंग ही रह जाये और इसी कड़ी में अब भाजपा लेकर आयी है आपदा प्रबंधन टीम के लिए  भगवा रंग और उस पर तुर्रा ये कि इसमें काला रंग भी है  ऐसा इसलिए कि यह टीम अलग दिखाई दे ,
             सम्पूर्ण विश्व में जिस भारत की पहचान अनेकता में एकता वाली संस्कृति की रही है भाजपा उस पहचान को पूरी तरह मटियामेट करने पर आ गयी है ,आज तक किसी भी सैन्य टुकड़ी की वर्दी ऐसी नहीं रही जो  देश के किसी भी राजनीतिक दल की खास पहचान हो किन्तु भाजपा कॉंग्रेस मुक्त भारत के साथ साथ लगता है देश के संविधान व् संस्कृति को बदलने की ठान कर आयी है,
        पुलिस के किसी भी दल की वर्दी ऐसी होती है जो आमतौर पर एकदम से प्रकृति के रंग से मेल वाली हो और लोगों में सुरक्षा का भरोसा उत्पन्न करने वाली हो लेकिन जो वर्दी एसडीआरएफ टीम की रखी गयी है वह देश में भेदभाव की जड़ें और गहरी खोद देगी क्योंकि यही रंग हिन्दुओं के साधु महात्मा धारण करते हैं ऐसे में मुस्लमान समुदाय के लोगों द्वारा इनसे आपदा के वक़्त सुरक्षा की आशा नहीं की जा सकती और इसका सीधा प्रभाव साम्प्रदायिक सौहार्द पर पड़ना स्वाभाविक है ,
           भाजपा के अब तक के कार्यकाल ने जहाँ तक देखने में आया है वैमनस्यता की खाई खोदने का काम ही किया है और जिस तरह से ईवीएम पर कब्ज़ा कर भाजपा देश के कोने -कोने पर जीत कब्ज़ा रही है वह दिन दूर  नहीं जब हमारे स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा देश को देश की हरियाली ,शांति व् संस्कृति की पहचान के रूप में  दिया गया तिरंगा भी राष्ट्रीय ध्वज की पदवी खो देगा और वहां भी केवल भगवा ही लहराएगा और यह  अनेकता में एकता की अपनी पहचान खो केवल भगवा में एकता से ही पहचाना जायेगा ,

शालिनी कौशिक
    [कौशल ]

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

aaj ka yuva verg

मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.

अरे घर तो छोड़ दो