गांधी परिवार चलाता भाजपा सरकार


पालघर मॉब लिंचिंग में गिरफ्तार 101 आरोपियों में से कोई भी मुस्लिम नहीं: महाराष्ट्र गृहमंत्री thewirehindi.com/118548/palghar via

मुस्लिम समाज भाजपा के हमेशा निशाने पर रहा है और जब जब भाजपा सत्ता में आई है तब तब मुस्लिम समाज का सहमा सहमा रहना ही दिखाई देता है. भारत हिन्दू बहुल देश है किन्तु यहां की संस्कृति हमेशा से वसुधैव कुटुम्बकम की रही है और सत्ता में 70 सालों से रही कॉंग्रेस ने इसी संस्कृति को संजोया है.
कॉंग्रेस की बागडोर सम्भालने वाले नेहरू गांधी परिवार के लिए सर्व साधारण के मन में यह विश्वास कायम रहा है कि हमारे हित इस परिवार के रहते हमेशा सुरक्षित हैं और यही बात भाजपा को हमेशा चुभती रही है.
भारत हिन्दू धर्म प्रधान देश है और इसी तथ्य को पकड़कर भाजपा ने भारत में अपनी जड़ें ज़माने के लिए हिन्दुओं को लुभाना शुरू किया और अंग्रेजों के डिवाइड एंड रूल सिद्धांत को अपनाया और तोड़ना आरंभ किया इस देश की संस्कृति को, किन्तु जानती थी भाजपा की इस देश को तोड़ना कॉंग्रेस को तोड़े बिना मुश्किल है और कॉंग्रेस को तोड़ने के लिए सबसे पहले तोड़ना होगा जनता में नेहरू गांधी फैमिली के प्रति विश्वास और इसके लिए सबसे पहले भाजपा ने सोशल मीडिया का प्रयोग शुरू किया. उसमें ट्रिक फोटो ग्राफी के जरिए नेहरू जी, इंदिरा जी व सोनिया जी के अभद्र, अश्लील फोटो प्रकाशित कराए गए, राहुल गांधी को पूरे देश में पप्पू कह कर ऐसा प्रचारित करने का प्रयास किया गया कि उन्हें कुछ नहीं आता, वे एक अबोध बालक के समान हैं. इसके साथ ही, भाजपा ने पहले हिन्दू मुस्लिम के बीच खाई खोदनी शुरू की और हिन्दुओं के बहुसंख्यक होने के कारण उनमें अपने वोट बैंक की ज्यादा संभावना देखते हुए सारे में यह फैलाना शुरू कर दिया कि नेहरू गांधी फैमिली मुसलमान है जिससे हिन्दू उनसे अलग हो जाएं. धीरे धीरे भाजपा ने हिन्दुओं के मन में यह डर बैठा ही दिया है कि अगर भाजपा सत्ता में है तभी हिन्दू सुरक्षित हैं अन्यथा नहीं.
इसी कड़ी में अभी हाल ही में पालघर (महाराष्ट्र) में दो साधुओं की हत्या कर दी गई. यूँ तो वहां उद्धव ठाकरे की सरकार है किन्तु क्योंकि वह कॉंग्रेस के सहयोग से है और बीजेपी से अलग आकर उद्धव ठाकरे को कॉंग्रेस का सहयोग भाजपा पर भारी पड़ा है इसलिये भाजपा बौखलाई हुई है और उसने अपने प्रवक्ता, गोदी मीडिया, अंध भक्त सभी इस काम पर लगा रखे हैं कि जैसे भी हो जनता के मन में कॉंग्रेस के लिए जहर घोल दो और क्योंकि भाजपा की कॉंग्रेस की परिभाषा में केवल सोनिया गांधी जी, राहुल गांधी व प्रियंका गांधी ही आते हैं और इस समय सोनिया गांधी जी ही कॉंग्रेस अध्यक्ष हैं इसलिए उनके खिलाफ जहर उगलना शुरू हो चुका है.
पाल घर महाराष्ट्र में संतों की हत्या पर रिपब्लिक टी वी के एंकर अर्नव गोस्वामी ने कहा कि सोनिया गांधी इस घटना पर चुप हैं और शायद अंदर ही अंदर खुश हैं.
इसके साथ ही भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने अर्नव के हमले को सही बताते हुए कहा कि अर्नव ने सोनिया गांधी को पूरी तरह से एक्सपोज कर दिया. यही नहीं सोशल मीडिया पर लगातार सोनिया गांधी को इस मामले पर कुछ भी बोलने के लिए उकसाया जा रहा है. 
कितने आश्चर्य की बात है कि सत्ता में भाजपा है, मोदी जी और अमित शाह जी सत्ता के शीर्ष पर हैं और दोनों ही संतों का नाम ले लेकर हिन्दुओं को भरमाने का कार्य करते हैं और दोनों की ही तरफ से इस संबंध में कोई प्रेस विज्ञप्ति जारी नहीं की गई है किन्तु इतना जरूर है कि दोनों पर उंगली उठने से पहले ही अपने अर्दली लगा दिए गए हैं कि घटना का मुँह सोनिया गांधी की तरफ मोड़ दो ताकि अंधी जनता उस तरफ मुड़ जाए और भाजपाई एक बार फिर संतों के, हिन्दुओं के रहनुमा के रूप में बने रहें. 
सच क्या है यह एक न एक दिन जनता के सामने आ जाएगा. इस वक़्त केवल एक स्थिति सोनिया गांधी जी की सच्चाई दुनिया को दिखा रही है और वह है उद्धव ठाकरे जी का यह कहना कि 101 आरोपियों में से एक भी मुस्लमान नहीं है, इसलिये यह अंध भक्त जनता यह तो देख सकती है कि सोनिया गांधी जी किसी मुसलमान को बचा नहीं रही हैं क्योंकि जिसने यह बयान जारी किया है वह भाजपा से भी बड़े हिन्दुओं के संरक्षक बाला साहब ठाकरे जी का बेटा है और हमेशा हिन्दुओं की ही रक्षार्थ भाजपा से जुड़ा रहता है. 
 शालिनी कौशिक 
(कौशल) 

टिप्पणियां

सार्थक पोस्ट।
--
विश्व पुस्तक दिवस की बधाई हो।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

''ऐसी पढ़ी लिखी से तो लड़कियां अनपढ़ ही अच्छी .''

मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.

सौतेली माँ की ही बुराई :सौतेले बाप का जिक्र नहीं