अब आया न ऊंट पहाड़ के नीचे :क्या मोदी की पत्नी मुफ्त की


अब आया न ऊंट पहाड़ के नीचे ..

कमाल है  देश में कोई भी  मुद्दा  जिसमे  कांग्रेसी  फंसते  दिखाई  देते  हैं भाजपाइयों  का मुंह बड़ी तेज़ी से खुलता है और जब अपने नेता और वह  भी जिसे  बढ़ा  चढ़ा  कर  प्रधानमंत्री  पद  पर सजाने  की कोशिशें  जारी हैं पर आरोपों के थपेड़े पहुंचे आरम्भ होते हैं तब पहले कांग्रेसियों को वरीयता दे कहा जाता है की पहले आप  ..........सुनंदा पुष्कर जो की अब शशि थरूर जी की ब्याहता पत्नी हैं पर कटाक्ष करने के मामले में तो मुख़्तार अब्बास नकवी  एकदम बोल गए की लव गुरु थरूर को लव मिनिस्टर बनाओ: बीजेपी तब क्यों नहीं कहा की पहले कांग्रेसियों के द्वारा हमारे सामने स्थिति साफ की जाये तभी हम मुहं खोलेंगें अब उनके द्वारा स्थिति सफाई की अपेक्षा क्यों की जा रही है क्या उनकी पत्नी के बारे में अपने मुहं से फूल उगलने पर मोदी जी के द्वारा स्थिति साफ नहीं की जानी चाहिए थी .अब उनकी पत्नी के बारे में जानकारी जो की नवभारत टाइम्स पर प्रकाशित की gayi है पर एक नज़र डालें :-

क्या मोदी वाकई अविवाहित हैं: दिग्विजय


modi-1
यू ट्यूब से ली गई फोटो
शिमला।। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का झंडा बुलंद करने शिमला पहुंचे दिग्विजय सिंह ने कहा है कि दूसरे की पत्नियों पर अपमानजनक टिप्पणियां करने वाले नरेंद्र मोदी अपनी पत्नी के बारे में क्यों चुप हैं? उन्होंने दावा किया कि मोदी शादीशुदा हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा, 'नरेंद्र मोदी की शादी यशोदा बेन से 1968 में हुई थी। यू-ट्यूब पर नरेंद्र मोदी की पत्नी का नाम और शादी के साक्ष्य मौजूद हैं।'

यहां देखें: यू ट्यूब का वह विडियो जिसमें यशोदा बेन नाम की महिला खुद को मोदी की पत्नी बताती हैं

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने नरेंद्र मोदी को सुनंदा पुष्कर पर दिए उनके बयान पर आड़े हाथों लिया। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिग्विजय ने कहा कि मोदी के बयान से महिलाओं का अपमान हुआ है। नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा को 50 करोड़ की गर्लफ्रेंड बताया था।

गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी की पत्नी को लेकर लंबे समय से विवाद है। यह आरोप लगाया जाता है कि मोदी शादीशुदा हैं, मगर पत्नी के साथ नहीं रहते। कहा जाता है कि उनकी पत्नी एक टीचर हैं और गुजरात के एक गांव में अकेली रहती हैं। मोदी ने आधिकारिक तौर पर इस बारे में कभी कुछ नहीं कहा है। गुजरात विधानसभा चुनावों के दौरान विरोधियों की तरफ से यह बात बार-बार उठाई जाती है, लेकिन मोदी इसका न तो खंडन करते हैं और न पुष्टि।

दिग्गी राजा ने मोदी से पूछा कि सभी सांसदों और विधायकों को चुने जाने के बाद अपना मेरिटल स्टेटस दिखाना होता है, लेकिन नरेंद्र मोदी का मेरिटल स्टेटस आज तक ब्लैंक है, भला क्यों?

मोदी के बयान पर शशि थरूर का भी खुलकर समर्थन किया। उन्होंने कहा कि पत्नी हमेशा से अनमोल होती है और उसका प्यार भी। लेकिन यह वही जान सकता है जिसने कभी किसी से प्यार किया हो। दिग्विजय सिंह ने कहा कि मोदी अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं और उनके बयान से महिलाओं का अपमान हुआ है।


बीजेपी ने भी टाला सवाल
50 करोड़ की गर्लफ्रेंड वाले बयान पर मोदी का साथ देने वाले बीजेपी नेताओं की कमी नहीं थी, मगर द्ग्विजय सिंह के इस आरोप के बाद कोई बीजेपी नेता मोदी का बचाव करता नहीं दिख रहा। मोदी की ही तरह बीजेपी भी इस आरोप की न तो पुष्टि कर रही है और न ही खंडन। गुरुवार को बीजेपी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद का ध्यान खास तौर पर दिग्विजय सिंह के इस बयान की ओर खींचा गया। इसके बावजूद वह इस सवाल को टाल गए। उन्होंनवे कहा कि पहले कांग्रेस साफ करे कि दिग्विजय सिंह किस हैसियत से यह सवाल उठा रहे हैं। क्या उनका यह कॉमेंट पार्टी का कॉमेंट माना जाए? उन्होंने कहा कि जब तक कांग्रेस इस बारे में स्थिति साफ नहीं करती, हम इस पर कुछ नहीं बोलेंगे।
अपनी पत्नी को इस तरह उपेक्षित जीवन देने वाले मोदी किस हक़ से दूसरों के जीवन में हस्तक्षेप कर रहे हैं .रविशंकर जी स्वयं पहले ये बताएं की किस हक़ से या हैसियत से मोदी जी द्वारा शशि थरूर  के जीवन साथी के बारे में ऐसी कुत्सित टिपण्णी वे कर रहे थे .और गडकरी जी आप भी जरा ध्यान दें अपने कल के वक्तव्य के बारे में जब आपने कहा था की मैं जाँच को तैयार वाड्रा भी करें जाँच का सामना अब अपने मोदी जी से कहिये की शशि जी की बीवी ५० करोड़ की है तो क्योंकि वे उसके खाते  में इतने रूपए रखते हैं फिर क्या उनकी बीवी मुफ्त की है जिसे वे गाँव में उपेक्षित रखते हैं मोदी जी के लिए ऐसे ही शब्द इस्तेमाल होंगे क्योंकि वे हर किसी की कीमत लगाते .  हैं जरा ये भी बताते चलें की प्रधानमंत्री पद की क्या कीमत लगायी है?
                         शालिनी कौशिक 
                                     [कौशल ]

टिप्पणियाँ

Virendra Kumar Sharma ने कहा…
अमरीकी चुनावों में किसी का व्यक्तिगत जीवन और उस पर की गई किसी भी तरफ से कोई भी छींटाकशी कभी मुद्दा नहीं बनती .बिल क्लिंटन साहब की ऑफिस असिस्टेंट के खूब चर्चे चले ,बावजूद इसके

उन्हें अमरीकियों ने राष्ट्र हित में तरजीह दी ,वे चुनाव जीते .मोदी भी जीतेंगे .

वैसे भी यह लिविंग इन रिलेशन का दौर हैं होंगी वह मोदी जी की 'de facto' डे ' फैकटो भौतिक रूप से वास्तविक (वस्तुतय /वस्तुत :)वाइफ ,होंगी आप काहे उन्हें फोकटी (फोकटिया पत्नी )बतला रहीं हैं .मोदी साहब

के बयान का हम समर्थन नहीं करते .

गर्ल फ्रेंड बेशक बेशकीमती होती है .दिलोजाँ से प्यारी .लेकिन ये वही थरूर साहब हैं जिन्होंने इकोनोमी क्लास में हवाई यात्रा करने वालों को 'cattle class 'कहा था .इनकी नजर में आम आदमी जिसकी जेब में

कांग्रेस का हाथ निरंतर रहता है वह क्या होगा .सहज अनुमेय है यह .

एक टिपण्णी ब्लॉग पोस्ट :
शालिनी जी आप के इस लेख से लगता हैं की आप पक्की और जन्मजात खान्ग्रेसी हैं. शालिनी जी मेरा परिवार भी हमेशा खान्ग्रेसी रहा हैं, पर जैसे जैसे मैंने होश संभाला थोड़ी अक्ल आती गयी तो खान्ग्रेस के कच्चे चिट्ठे और इस राज परिवार के कारनामे सामने आते गए तो इस पार्टी और इस परिवार से घृणा होती गयी, शालिनी जी देश, धर्म से प्रेम करो, किसी परिवार के ज़रखरीद गुलाम मत बनो...वन्देमातरम.
Aditya Tikku ने कहा…
nivedan - krodh ko mariyada purn bhasha ma rakhe.
करवाचौथ की हार्दिक मंगलकामनाओं के साथ आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (03-11-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!
kshama ने कहा…
Uffo! Aapne bhee kamal kar diya....kiskee baat chhed dee? Yahan to na bachhon kee baap hain na bibiyon ke pati!
kshama ने कहा…
Uffo! Aapne bhee kamal kar diya....kiskee baat chhed dee? Yahan to na bachhon kee baap hain na bibiyon ke pati!
dheerendra bhadauriya ने कहा…
प्रवीण जी, क्या कांग्रेसी होना गुनाह है हर पार्टी नेता
भ्रष्ट होते है,जिनकी पोल खुल गई वो चोर बाकी नेता साहूकार,आपकी बातों से लगता है आप बी०जे०पी० के
जरखरीद गुलाम है,,,bjp बोलने से पहले अपना गिरेबान झांक ले,,,,,शालिनी जी ने जो कहा मै उनसे सहमत हूँ,,,,,

RECENT POST : समय की पुकार है,
-----सभी नेता बकवास करते ही रहते हैं ...जैसे सभी वर्गों में कुछ लोग बकवास करने वाले होते हैं ---- यदि आप निष्पक्ष हैं तो इन बातों को गंभीरता से लेना ही नहीं चाहिए ... न् जिक्र करना चाहिए...इससे उन्हें और पब्लिसिटी मिलती है जो वे सदा चाहते हैं ....

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

aaj ka yuva verg

माचिस उद्योग है या धोखा उद्योग

aaj ke neta