बुधवार, 8 मार्च 2017

..औरत ........,.... लांछित........ हैं

Image result for husband beeting wife in india image
व्यथित सही ,पीड़ित सही ,पर तुझको लगे ही रहना है ,
जब तक सांसें ये बची रहें ,हर पल मरते ही रहना है .
............................................................................
पिटना पतिदेव के हाथों से ,तेरी किस्मत का लेखा है ,
इस दुनिया की ये बातें ,माथे धरकर ही रहना है .
..........................................................................
औरत की चाहत का जग में ,कोई मोल नहीं है कभी नहीं ,
तू सुन ले कान खोल अपने ,तुझे नौकर बन ही रहना है .
...................................................................................
जो औरत बढे जरा आगे ,ये लांछित उसको करते हैं ,
तुझको इनकी आज्ञाओं का ,पालन करते ही रहना है .
..................................................................................
पल-पल की सच्चाई कहती ,'शालिनी' खुलकर के दिल से ,
नारी को जीवन जीने को ,बस दब-दबकर ही रहना है .

शालिनी कौशिक  
     [कौशल ]

2 टिप्‍पणियां:

Ritu Asooja Rishikesh ने कहा…


बात तो सही है,शालीनी जी ।
परन्तु समय में परीवर्तन आ रही है ।
अंतराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनायें।

Ritu Asooja Rishikesh ने कहा…

महिलायें समाज की वो जड़ें हैं, जिसके ऊपर संपूर्ण समाज टिका हुआ है । इसलिये अपनी जड़ों को मज़बूत करिये उनकी अच्छी देखभाल कीजिये सुख समृद्धि स्वतः ही खिल खिलायेगी ।

संभल जा रे नारी ....

''हैलो शालिनी '' बोल रही है क्या ,सुन किसी लड़की की आवाज़ मैंने बेधड़क कहा कि हाँ मैं ही बोल रही हूँ ,पर आप ,जैसे ही उसने अपन...