बुधवार, 8 मार्च 2017

..औरत ........,.... लांछित........ हैं

Image result for husband beeting wife in india image
व्यथित सही ,पीड़ित सही ,पर तुझको लगे ही रहना है ,
जब तक सांसें ये बची रहें ,हर पल मरते ही रहना है .
............................................................................
पिटना पतिदेव के हाथों से ,तेरी किस्मत का लेखा है ,
इस दुनिया की ये बातें ,माथे धरकर ही रहना है .
..........................................................................
औरत की चाहत का जग में ,कोई मोल नहीं है कभी नहीं ,
तू सुन ले कान खोल अपने ,तुझे नौकर बन ही रहना है .
...................................................................................
जो औरत बढे जरा आगे ,ये लांछित उसको करते हैं ,
तुझको इनकी आज्ञाओं का ,पालन करते ही रहना है .
..................................................................................
पल-पल की सच्चाई कहती ,'शालिनी' खुलकर के दिल से ,
नारी को जीवन जीने को ,बस दब-दबकर ही रहना है .

शालिनी कौशिक  
     [कौशल ]

2 टिप्‍पणियां:

Ritu Asooja Rishikesh ने कहा…


बात तो सही है,शालीनी जी ।
परन्तु समय में परीवर्तन आ रही है ।
अंतराष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनायें।

Ritu Asooja Rishikesh ने कहा…

महिलायें समाज की वो जड़ें हैं, जिसके ऊपर संपूर्ण समाज टिका हुआ है । इसलिये अपनी जड़ों को मज़बूत करिये उनकी अच्छी देखभाल कीजिये सुख समृद्धि स्वतः ही खिल खिलायेगी ।

बेटी की...... मां ?

बेटी का जन्म पर चाहे आज से सदियों पुरानी बात हो या अभी हाल-फ़िलहाल की ,कोई ही चेहरा होता होगा जो ख़ुशी में सराबोर नज़र आता होगा ,लगभग...