बुधवार, 14 अगस्त 2013

कुर्बान तुझ पे खून की ,हर बूँद शान से।

Independence Day Picture
फरमा रहा है फख्र से ,ये मुल्क शान से ,
कुर्बान तुझ पे खून की ,हर बूँद शान से।
..................................................

फराखी छाये देश में ,फरेब न पले ,
कटवा दिए शहीदों ने यूँ शीश शान से .
..................................................

 देने को साँस लेने के ,काबिल वो फिजायें ,
कुर्बानी की राहों पे चले ,मस्त शान से .
..................................................

आज़ादी रही माशूका जिन शूरवीरों की ,
साफ़े की जगह बाँध चले कफ़न शान से .
.....................................................................

कुर्बानी दे वतन को जो आज़ाद कर गए ,
शाकिर है शहादत की हर  नस्ल  शान से .
.................................................................
इस मुल्क का गुरूर है वीरों की शहादत ,
फहरा रही पताका यूँ आज शान से .
...............................................................

मकरूज़ ये हिन्दोस्तां शहीदों तुम्हारा ,
नवायेगा सदा ही सिर सरदर शान से .
.........................................................................
पैगाम आज दे रही कुर्बानियां इनकी ,
घुसने न देना फिर कभी सियार  शान से .
..................................................................
करते हैं अदब दिल से अगर हम शहीदों का ,
छोड़ेंगे बखुशी सब मतभेद शान से .
.........................................................
इस मुल्क की हिफाज़त दुश्मन से कर सकें ,
सलाम मादरे-वतन कहें आप  शान से .
.....................................................
मुक़द्दस इस मुहीम पर कुर्बान ''शालिनी'' ,
ऐसे ही सिर उठाएगा ये मुल्क शान से .

शालिनी कौशिक 
[कौशल]

[शब्दार्थ-सरदर-सब मिलकर एक साथ ]




My India My Pride



26 टिप्‍पणियां:

premkephool.blogspot.com ने कहा…

स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

Darshan jangra ने कहा…

स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

Darshan jangra ने कहा…

स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

Darshan jangra ने कहा…

स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत सुन्दर भाव..

ajay yadav ने कहा…

सुंदर रचना |
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ|
“प्रेम ...प्रेम ...प्रेम बस प्रेम रह जाता हैं "

Yashwant Mathur ने कहा…

स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

सादर

Ranjana Verma ने कहा…

देश भक्तों को नमन शान से...... स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ....

Virendra Kumar Sharma ने कहा…

शहादत की इबादत बढ़िया की है आपने।

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले ,

वतन पे मिटने वालों का यही बाकी निशाँ होगा।

जय जवान जय किसान ,मेरे हिन्द की तू ही शान। तुझ पे दिल कुबान।

Virendra Kumar Sharma ने कहा…

शहादत की इबादत बढ़िया की है आपने।

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले ,

वतन पे मिटने वालों का यही बाकी निशाँ होगा।

जय जवान जय किसान ,मेरे हिन्द की तू ही शान। तुझ पे दिल होता कुर्बान । तू ही असली है

अजान। सब कौमों की तू ही जान। फरिश्तों की तू ही पहचान।

एक प्रतिक्रिया ब्लॉग पोस्ट :

बुधवार, 14 अगस्त 2013

कुर्बान तुझ पे खून की ,हर बूँद शान से।

फरमा रहा है फख्र से ,ये मुल्क शान से ,
कुर्बान तुझ पे खून की ,हर बूँद शान से।
..................................................

फराखी छाये देश में ,फरेब न पले ,
कटवा दिए शहीदों ने यूँ शीश शान से .
..................................................

देने को साँस लेने के ,काबिल वो फिजायें ,
कुर्बानी की राहों पे चले ,मस्त शान से .
..................................................

आज़ादी रही माशूका जिन शूरवीरों की ,
साफ़े की जगह बाँध चले कफ़न शान से .
.....................................................................

कुर्बानी दे वतन को जो आज़ाद कर गए ,
शाकिर है शहादत की हर नस्ल शान से .
.................................................................
इस मुल्क का गुरूर है वीरों की शहादत ,
फहरा रही पताका यूँ आज शान से .
...............................................................

मकरूज़ ये हिन्दोस्तां शहीदों तुम्हारा ,
नवायेगा सदा ही सिर सरदर शान से .
.........................................................................
पैगाम आज दे रही कुर्बानियां इनकी ,
घुसने न देना फिर कभी सियार शान से .
..................................................................
करते हैं अदब दिल से अगर हम शहीदों का ,
छोड़ेंगे बखुशी सब मतभेद शान से .
.........................................................
इस मुल्क की हिफाज़त दुश्मन से कर सकें ,
सलाम मादरे-वतन कहें आप शान से .
.....................................................
मुक़द्दस इस मुहीम पर कुर्बान ''शालिनी'' ,
ऐसे ही सिर उठाएगा ये मुल्क शान से .

शालिनी कौशिक
[कौशल]

[शब्दार्थ-सरदर-सब मिलकर एक साथ ]

राजेंद्र कुमार ने कहा…

अतिसुन्दर ,स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…

बहुत सुंदर भावपूर्ण गजल,,,

स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाए,,,

RECENT POST: आज़ादी की वर्षगांठ.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

हर पंक्ति सोचने को मजबूर करती है ...
स्वतंत्रता दिवस की बधाई और शुभकामनायें ...

Devdutta Prasoon ने कहा…

स्वतंत्रता-दिवस की कोट कोटि वधाइयां !बहुत ही ओज पूर्ण गज़ल-शैलीय रचना है !

Devdutta Prasoon ने कहा…

स्वतंत्रता-दिवस की कोटि कोटि वधाइयां !बहुत ही ओज-पूर्ण गज़ल-शैली रचना हेतु शुभ कामना !!

Devdutta Prasoon ने कहा…

स्वंत्रता-दिवस की कोटि कोटि वधाइयां !बहुत ओज पूर्ण गज़ल-शैली रचना के लिये साधुवाद !!

Devdutta Prasoon ने कहा…

स्वंत्रता-दिवस की कोटि कोटि वधाइयां !बहुत ओज पूर्ण गज़ल-शैली रचना के लिये साधुवाद !!

Devdutta Prasoon ने कहा…

स्वंत्रता-दिवस की कोटि कोटि वधाइयां !बहुत ओज पूर्ण गज़ल-शैली रचना के लिये साधुवाद !!

Kartikey Raj ने कहा…

आपको मेरी तरफ से स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ....

Kartikey Raj ने कहा…

स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ....

durga prasad Mathur ने कहा…

स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ साथ आपको इस सुन्दर रचना के लिए बधाई !

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

क्या कहने
बहुत सुंदर

Virendra Kumar Sharma ने कहा…

शहीदों के प्रति श्रृद्धा से ओतप्रोत रचना। शुक्रिया आपकी सद्य टिप्पणी का। ॐ शान्ति।

Ramakant Singh ने कहा…

कुर्बानी दे वतन को जो आज़ाद कर गए ,
शाकिर है शहादत की हर नस्ल शान से .

बहुत सुंदर

कंचनलता चतुर्वेदी ने कहा…

प्रभावी अभिव्यक्ति...बधाई...

vijay kumar sappatti ने कहा…

बहुत प्रेरणादायक पोस्ट. देशप्रेम को जगाती हुई . .

दिल से बधाई स्वीकार करे.

विजय कुमार
मेरे कहानी का ब्लॉग है : storiesbyvijay.blogspot.com

मेरी कविताओ का ब्लॉग है : poemsofvijay.blogspot.com

काश ऐसी हो जाए भारतीय नारी

चली है लाठी डंडे लेकर भारतीय नारी , तोड़ेगी सारी बोतलें अब भारतीय नारी . ................................................ बहुत दिनों ...