रविवार, 10 नवंबर 2013

चुनावी हथकंडा -एक लघु कथा .


चुनावी हथकंडा -एक लघु कथा .
कांग्रेस ने देश को खोखला कर दियाः मोदी 
मम्मी-मम्मी देखो आंटी क्या कह रही हैं ?श्रुति को यूँ चीखते हुए देख मीना तेज़ी से अपना हाथ लिखने से रोककर बोली ,''क्या हुआ श्रुति !अब क्या कह दिया अरुणा आंटी ने ,मम्मी कल तक तो फिर भी बर्दाश्त की जद में था ,जब वे यह कहती थी कि मेरा एडमिशन स्कूल में उन्होंने कराया ,पापा को एक्सीडेंट से बचाया ,भैया को प्रमोशन दिलाया और आपको नॉमिनेट कराया ,पर आज तो वे जो कह रही हैं वह तो बर्दाशत की हद पार कर रहा है ,श्रुति मुंह फुलाते हुए बोली ,पर आज क्या कह दिया अरुणा ने बता तो ,मम्मी ,आज तो आंटी ये कह रही हैं ,''कि हमारा घर उन्हीं का है ,जो आपने और पापा ने उनके अपनों का क़त्ल कराकर ''खुनी पंजे व् जालिम हाथ ''से हासिल किया था .''
''कोई बात नहीं बेटा कहने दे ,देश में संविधान ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता दी है और जब देश में प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार कुछ भी ऊट-पटाँग बोल सकता है तो फिर वे क्यूँ नहीं ?वे भी तो कॉलोनी में चैयरमैन पद की प्रत्याशी हैं .''
''अच्छा मम्मी ,ये आंटी का चुनावी हथकंडा है ,फिर कोई बात नही ,ये कहकर श्रुति खेलने चल दी और मम्मी अपना आलेख पूरा करने .
शालिनी कौशिक
[कौशल ]

3 टिप्‍पणियां:

shikhakaushik06 ने कहा…

really modi is the worst name of indian politics

Rajesh Kumari ने कहा…

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा कल मंगल वार १२ /११/१३ को चर्चामंच पर राजेशकुमारी द्वारा की जायेगी आपका वहाँ हार्दिक स्वागत है

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…

सुंदर सटीक लघु कथा ..!

RECENT POST -: कामयाबी.

... पता ही नहीं चला.

बारिश की बूंदे  गिरती लगातार  रोक देती हैं  गति जिंदगी की  और बहा ले जाती हैं  अपने साथ  कभी दर्द  तो  कभी खुशी भी  ...