सृष्टि में एक नारी,


सृष्टि में एक नारी,


Free Artistic Wallpaper : Picasso - Girl Before MirrorFree Artistic Wallpaper : Picasso - Woman With a Flower



धरती पर जीवन रचने की भावना जब आई 
तब प्रभु ने औजार छोड़कर तूलिका उठाई.
सेवक ने तब प्रभु से पूछा ऐसे क्या रचोगे,
औजारों का काम आप इससे कैसे करोगे?
बोले प्रभु मुझको है बनानी सृष्टि में एक नारी,
कोमलता के भाव बना न सकती कोई आरी.
पत्थर पर जब मैं हथोडी से वार कई करूंगा,
ऐसे दिल में प्यार के सुन्दर भाव कैसे भरूँगा?
क्षमा करुणा भाव हैं ऐसे उसमे तभी ये आयेंगे,
जब रंगों के संग सिमट कर उसके मन बस जायेंगे.
इसीलिए अपने हाथों में तूलिका को थामा,
पहनाने दे अब मेरी योजना को अमली जामा. 
          


                                         शालिनी कौशिक 
                                                     [कौशल ]

टिप्पणियाँ

खुदा की बिलकुल सही सोंच .... सुंदर प्रस्तुति.
scsatyarthi ने कहा…
अब प्रभु को तुलिका की जगह औजार इस्तेमाल करना चाहिए औरत को बनाने के लिए...
dheerendra ने कहा…
बेहतरीन भाव लिए सुंदर प्रस्तुति,,,,
RECENT POST ...: आई देश में आंधियाँ....
Bhola-Krishna ने कहा…
अति सुंदर सारगर्भित प्रस्तुति .
veerubhai ने कहा…
सुन्दरम ,मनोहरम .कृपया यहाँ भी पधारें -
ram ram bhai
शुक्रवार, 20 जुलाई 2012
क्या फर्क है खाद्य को इस्ट्यु ,पोच और ग्रिल करने में ?
क्या फर्क है खाद्य को इस्ट्यु ,पोच और ग्रिल करने में ?


कौन सा तरीका सेहत के हिसाब से उत्तम है ?
http://veerubhai1947.blogspot.de/
जिसने लास वेगास नहीं देखा
जिसने लास वेगास नहीं देखा

http://kabirakhadabazarmein.blogspot.com/
Bhola-Krishna ने कहा…
भाव और शब्द दोनों ही बेहद सुंदर -भोला कृष्णा
ali ने कहा…
औजारों के स्थान पर तूलिका का अभिनव प्रयोग किया आपने !
ज़रूर ऐसा ही हुआ होगा...
आशीष
--
इन लव विद.......डैथ!!!
सृष्टि करे कोई धारण, जब यह भाव उठा,
कुशल करों से ईश्वर के नारी उपजी।
सदा ने कहा…
सशक्‍त भाव ... उत्‍कृष्‍ट लेखन .. आभार
scsatyarthi ने कहा…
'अब प्रभु को तुलिका की जगह औजार इस्तेमाल करना चाहिए औरत को बनाने के लिए....'
-----क्यों ?..क्योंकि...
--- कविता तो अच्छी है पर... तस्वीर तस्वीर है सिर्फ दो आयाम वाली ...मूर्ति ..मूर्ति है तीन आयाम वाली....सब समझें...
scsatyarthi ने कहा…
अब प्रभु को तुलिका की जगह औजार इस्तेमाल करना चाहिए औरत को बनाने के लिए.-
----क्यों ?.....क्योंकि....तस्वीर तस्वीर है सिर्फ दो आयाम वाली ...मूर्ति ..मूर्ति होती है तीन आयाम वाली ....सब समझें ...??
Srikant Chitrao ने कहा…
बहोत खूब |
अरुन शर्मा ने कहा…
बेहद सुन्दर प्रस्तुति बधाई स्वीकार कीजिये.
( अरुन शर्मा = arunsblog.in )

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

aaj ka yuva verg

माचिस उद्योग है या धोखा उद्योग

aaj ke neta