शनिवार, 21 जुलाई 2012

प्रतिभा जी :एक आदर्श

प्रतिभा जी :एक आदर्श 


(From L - R) Prime Minister Manmohan Singh, Vice President Mohammad Hamid Ansari, Thailand's Prime Minister Yingluck Shinawatra and President Pratibha Patil stand behind a bullet-proof glass during India's national anthem at the Republic Day parade

२४ जुलाई २०१२ वह दिन है जब हमारे देश की प्रथम महिला राष्ट्रपति श्रीमती प्रतिभा देवी सिंह पाटिल जी अपने पद से सेवानिवृत्त होंगी .प्रतिभा जी का इस पद को सुशोभित  करना सम्पूर्ण विश्व  में महिलाओं  के  शीश  को उंचा  करता है कारण सभी जानते हैं जिस देश में महिलाओं  के ३३ %आरक्षण के मुद्दे पर राजनीतिज्ञ  जहर खाने या  गंगा में कूदने की बाते करते हों वहां संविधान के सर्वोच्च पद पर एक महिला का सुशोभित होना बहुत मायने रखता है और प्रतिभा जी ने इसी पुरुष सत्तात्मक समाज को अपनी काबिलियत द्वारा आइना  दिखाया  है  .प्रतिभा जी ने अपने कार्यकाल में बहुत से ऐसे   कार्यों को अंजाम  दिया है जिनके बारे में अधिसंख्य  जनता को ये  संदेह  था  कि एक महिला होने के कारण वे इन  कार्यों को नहीं कर पाएंगी  .जैसे कि सभी जानते हैं कि राष्ट्रपति तीनों सेनाओं का सर्वोच्च कमांडर होता  है और सेनाओं में आज भी लड़कियों का वह स्थान नहीं है जो कि लड़कों का है जबकि  लड़कियों को जहाँ भी अवसर मिल रहे हैं वे अपनी श्रेष्ठता  साबित कर रही हैं .ऐसी स्थितियों में अधिकांश  की नज़रों में इस पद के लिए प्रतिभा जी कि योग्यता पर उँगलियाँ उठाई जा रही थी जो उन्होंने वापस उन्ही की और मोड़ दी  है जो उठा रहे थे और उन लोगों को अपने दिमाग पर जोर डालने  को विवश किया है जो लड़कियों की क्षमता को कम आंकते हैं .
२५ नवम्बर २००९ वह ऐतिहासिक  दिन जब उसके वायु सेना के अत्याधुनिक सुखोई  -30 एम्.के.आई.लड़ाकू विमान  में तीनो सेनाओं की सर्वोच्च कमांडर  राष्ट्रपति प्रतिभा   देवी सिंह पाटिल जी ने उड़ान भरी .प्रतिभा जी ये कार्य करने वाली भारत की दूसरी  राष्ट्रपति हैं उनसे पहले राष्ट्रपति कलाम जी ने ही ये कार्य किया था.
    इसके एक माह  बाद  प्रतिभा जी ने नौसेना  के एकमात्र  विमान वाहक  पोत  विराट  पर सवार होकर  परेड का निरीक्षण  २३ दिसंबर २००९ को किया .
भारतीय थल सेना व् वायु सेना के संयुक्त युद्धाभ्यास ''सुदर्शन शक्ति '' में राजस्थान के बाड़मेर में राष्ट्रपति प्रतिभा जी सेना की वर्दी में एक टी-90 टैंक  पर सवार होकर युद्धाभ्यास के अवलोकन के लिए पहुंची.युद्धक टैंक की सवारी करने वाली वे देश की पहली राष्ट्रपति हैं. 
गाँधीवादी विचारधारा  से प्रेरित  भारतीय वेशभूषा से सुशोभित प्रतिभा जी ने इस पद की गरिमा को नई ऊँचाइयाँ दी हैं और एक सामान्य भारतीय के दिमाग में लड़कियों के लिए नई सोच पैदा करने की परिस्थितियां पैदा की हैं प्रतिभा जी हम सभी के लिए सदैव आदर्श रहेंगी .प्रतिभा जी को समस्त देशवासियों की ओर से सस्नेह प्रणाम .
                                                              शालिनी  कौशिक 
                                                                {कौशल} 















9 टिप्‍पणियां:

kshama ने कहा…

Kiskee tasveeren hain?

Shah Nawaz ने कहा…

Pratibha ji ki pratibha ka jawaab nahi hai....

Badal Merthi ने कहा…

गाँधीवादी विचारधारा से प्रेरित भारतीय वेशभूषा से सुशोभित प्रतिभा जी ने इस पद की गरिमा को नई ऊँचाइयाँ दी हैं और एक सामान्य भारतीय के दिमाग में लड़कियों के लिए नई सोच पैदा करने की परिस्थितियां पैदा की हैं प्रतिभा जी हम सभी के लिए सदैव आदर्श रहेंगी .प्रतिभा जी को समस्त देशवासियों की ओर से सस्नेह प्रणाम .

Badal Merthi ने कहा…

गाँधीवादी विचारधारा से प्रेरित भारतीय वेशभूषा से सुशोभित प्रतिभा जी ने इस पद की गरिमा को नई ऊँचाइयाँ दी हैं और एक सामान्य भारतीय के दिमाग में लड़कियों के लिए नई सोच पैदा करने की परिस्थितियां पैदा की हैं प्रतिभा जी हम सभी के लिए सदैव आदर्श रहेंगी .प्रतिभा जी को समस्त देशवासियों की ओर से सस्नेह प्रणाम .

शिखा कौशिक ने कहा…

PRATIBHA JI KI PRATIBHA KO SALAM .SARTHAK POST .

kshama ने कहा…

Oh! Aaj tasveeren dikhin!

अजय कुमार झा ने कहा…

आपकी नायाब पोस्ट और लेखनी ने हिंदी अंतर्जाल को समृद्ध किया और हमने उसे सहेज़ कर , अपने बुलेटिन के पन्ने का मान बढाया उद्देश्य सिर्फ़ इतना कि पाठक मित्रों तक ज्यादा से ज्यादा पोस्टों का विस्तार हो सके और एक पोस्ट दूसरी पोस्ट से हाथ मिला सके । रविवार का साप्ताहिक महाबुलेटिन लिंक शतक एक्सप्रेस के रूप में आपके बीच आ गया है । टिप्पणी को क्लिक करके आप सीधे बुलेटिन तक पहुंच सकते हैं और अन्य सभी खूबसूरत पोस्टों के सूत्रों तक भी । बहुत बहुत शुभकामनाएं और आभार । शुक्रिया

शिवनाथ कुमार ने कहा…

सार्थक पोस्ट ....

veerubhai ने कहा…

अलावा इसके देवी प्रतिभा सिंह पाटिल को कई विवादास्पद कामों के लिए भी जाना जाएगा जहां वह राष्ट्रपति के विशेष अधिकारों का स्तेमाल कर बलात्कारियों और नारी की अस्मत को लूटकर ठिकाने लगाने वाले हत्यारों की माफ़ी की याचिका गृह मंत्रालय के कथित अनुमोदन के बाद लौटा सकतीं थीं .पुणे में जमीन के आब्नातन को लेकर भी आप विवाद में आईं थीं presidential fleet की निगरानी के दौरान जब वह मुंबई आईं तो सारी मुंबई पंजों के बल खड़ी रही उनकी सुरक्षा को लेकर ,अघोषित कर्फ्यू था यह इस नगर में .जी हाँ मैं उस दौरान वहीँ था और . . कृपया यहाँ भी दस्तक देवें -
ram ram bhai
सोमवार, 23 जुलाई 2012
कैसे बचा जाए मधुमेह में नर्व डेमेज से

कैसे बचा जाए मधुमेह में नर्व डेमेज से

http://veerubhai1947.blogspot.de/

मीरा कुमार जी को हटाया क्यों नहीं सुषमा जी ?

विपक्षी दलों ने जब से भाजपा के राष्ट्रपति पद के दलित उम्मीदवार श्री रामनाथ कोविंद के सामने दलित उम्मीदवार के ही रूप में मीरा कुमार जी...