शनिवार, 18 मई 2013

मेरी किस्मत ही ऐसी है .

 Woman_crying : beauty girl cry  


न होगा मुझको कुछ हासिल ,मेरी किस्मत ही ऐसी है ,
न फतह के होंगी काबिल ,मेरी किस्मत ही ऐसी है .

मयस्सर थी मुझे खुशियाँ ,अगर कुछ करके दिखलाती ,
नहीं कर पाई मैं कुछ भी , मेरी किस्मत ही ऐसी है .


खड़े हैं साथ में अपने ,न मानूं हूँ किसी की मैं ,
समझती खुद को बादशाह ,मेरी किस्मत ही ऐसी है .

नहीं चाहा था जो मैंने ,बिना मांगे ही मिल गया ,
जो चाहा न मिला मुझको ,मेरी किस्मत ही ऐसी है .

न पड़ना फेर में इसके ,यही कहती है ''शालिनी''
कहलवा देगी तुमको ये ,मेरी किस्मत ही ऐसी है .
   
            शालिनी कौशिक 
              [कौशल ]

13 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी इस प्रविष्टि की चर्चा आज रविवार (19-05-2013) के मंजिल को हँसी-खेल समझना न परिन्दों : चर्चा मंच- 1249 मयंक का कोना पर भी है!
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

Ranjana Verma ने कहा…

बहुत अच्छी ग़ज़ल !!

Ranjana Verma ने कहा…

बहुत अच्छी ग़ज़ल !!

Ranjana Verma ने कहा…

बहुत अच्छी ग़ज़ल !!

Ranjana Verma ने कहा…

बहुत अच्छी ग़ज़ल !!

कालीपद प्रसाद ने कहा…

शालिनी जी ग़ज़ल तो बहुत बढ़िया, पर हौसला हो तो किस्मत बदल सकती है
डैश बोर्ड पर पाता हूँ आपकी रचना, अनुशरण कर ब्लॉग को
अनुशरण कर मेरे ब्लॉग को अनुभव करे मेरी अनुभूति को
latest postअनुभूति : विविधा
latest post वटवृक्ष

पूरण खण्डेलवाल ने कहा…

मेरी किस्मत हि ऐसी है !!
सुन्दर !!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत ही सुन्दर..

Virendra Kumar Sharma ने कहा…


ॐ शान्ति .

कर्म से निर्धारण होता है किस्मत का चाहे इस जन्म के हों या पूर्व जन्म के .

नन्ने मुन्ने बच्चे तेरी मुठ्ठी में क्या है ,

मुठ्ठी में है तकदीर हमारी ,हमने किस्मत को बस में किया है ....

ॐ शान्ति .

Virendra Kumar Sharma ने कहा…


ॐ शान्ति .

कर्म से निर्धारण होता है किस्मत का चाहे इस जन्म के हों या पूर्व जन्म के .

नन्ने मुन्ने बच्चे तेरी मुठ्ठी में क्या है ,

मुठ्ठी में है तकदीर हमारी ,हमने किस्मत को बस में किया है ....

ॐ शान्ति .

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

बहुत सुंदर
बहुत सुंदर

vishvnath ने कहा…

बहुत ही मीठी और सुन्दर ग़ज़ल है ,,,....बहुत बढ़िया .
Vishva

kshama ने कहा…


नहीं चाहा था जो मैंने ,बिना मांगे ही मिल गया ,
जो चाहा न मिला मुझको ,मेरी किस्मत ही ऐसी है .
Lagta hai mano mere bareme aapne likha hai!