मंगलवार, 23 जून 2015

भाजपा में भी हैं राहुल गांधी मौजूद


ललित मुद्दे पर बोले भाजपा सांसद, भगोड़े की मदद करना है गलत

भगोड़े की मदद करना गलत
पूर्व गृह सचिव एवं मौजूदा भाजपा सांसद आर के सिंह ललित मोदी मुद्दे पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को बचाने के भाजपा के प्रयासों पर पानी फेरते दिख रहे हैं। अपने हालिया बयान में उन्होंने कहा है कि एक भगोड़े की मदद करना गलत है।
आर के सिंह ने सरकार से अपील की है कि सरकार ललित मोदी को वापस भारत लाने के लिए हर संभव कदम उठाए ताकि वो कानून का सामना कर सकें। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी भगोड़े की मदद करता है तो वो गलत है।
अगर कोई भगोड़े से मिलता है तो ये बिल्कुल ही गलत है। जिसने भी मदद की है वो पूरी तरह से गलत है। उन्होंने कहा कि ललित मोदी नोटिस और कई समनों का सामना कर रहे हैं और एसे भगोड़े की मदद करना या उससे कोई मीटिंग करना गलत है।
[अमर उजाला से साभार ]
अपनी ही सरकार के कदम पर इस प्रकार ऊँगली उठाकर पूर्व गृह सचिव व् मौजूदा भाजपा सांसद आर के सिंह ने ये तो ज़ाहिर कर ही दिया है कि भाजपा भी केवल चापलूसों की पार्टी नहीं है बल्कि भाजपा में भी ऐसे बुद्धिजीवी व् साहसी कार्यकर्ता मौजूद हैं जो कॉंग्रेस के राहुल गांधी की तरह अपनी सरकार के गलत कामों को रोकने की क्षमता रखते हैं.स्मरणीय रहे कि राहुल गांधी अपनी ही सरकार के बिल को अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में नकार भी चुके हैं और फाड़ भी चुके हैं जिसके लिए उन्हें काफी आलोचना का भी शिकार होना पड़ा था और सियासत में पप्पू जैसी कुत्सित टिप्पणियों का सामना भी करना पड़ा था -

In a major embarrassment to the UPA government, Rahul Gandhi today denounced the controversial ordinanceto negate the Supreme Court verdict on convicted lawmakers as "complete nonsense" and said what "our government has done is wrong".
Making a surprise brief appearance at a meet-the-press programme of his party's general secretary Ajay Maken at the Press Club here, he said the ordinance should be "torn up and thrown away".[thanks to www.dnindia.com]
लेकिन ये सभी जानते हैं कि जिन्हे इस दुनिया में कुछ भी सही करना होता है वे कभी भी दूसरों के कहने या आलोचना की परवाह नहीं करते वे केवल वही करते हैं जो सही होता है और जिसकी उनका अंतर्मन इज़ाज़त देता है .और जिनके बारे में कहा भी गया है -
''लोग कहते हैं बदलता है ज़माना अक्सर ,
मर्द वे हैं जो ज़माने को बदल देते हैं .''
शालिनी कौशिक
[कौशल ]

1 टिप्पणी:

Dilbag Virk ने कहा…

आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 25-06-2017 को चर्चा मंच पर चर्चा - 2017 में दिया जाएगा
धन्यवाद