सोमवार, 22 अक्तूबर 2012

दुर्गा अष्टमी की सभी को हार्दिक शुभकामनायें


दुर्गा अष्टमी की सभी को हार्दिक शुभकामनायें 

Maa Durga
शीश नवायेंगें मैया को  ;दर  पर चलकर जायेंगे ,
मैया तेरे आशीषों से खुशियाँ खुलकर पायेंगें .

[मेरा भजन मेरे स्वर में ]



हर  बेटी में रूप है माँ का इसीलिए पूजे मिलकर ;
सफल सभ्यता तभी हमारी बेटी रहेगी जब खिलकर ;
हम बेटी को जीवन देकर माँ का क़र्ज़ चुकायेंगे .
मैया तेरे आशीषों से खुशियाँ खुलकर पायेंगें .
                                                     जय माता दी !
                                              शालिनी कौशिक 
                                          [कौशल ]

7 टिप्‍पणियां:

डॉ शिखा कौशिक ''नूतन '' ने कहा…

जय माता दी !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
--
दुर्गाष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

आप सबको भी शुभकामनायें।

रविकर ने कहा…

जय माँ |
शुभकामनायें ||

Dheerendra singh Bhadauriya ने कहा…

दुर्गा अष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें,,,,,

RECENT POST : ऐ माता तेरे बेटे हम

Bhola-Krishna ने कहा…

शालिनी बेटा ,
अष्टमी के प्रातः उठते ही आपका आलेख पढ़ा और सस्वर गायन भी !स्वदेश से हजारों मील दूर हमारी अष्टमी आपने बना दी और मना भी दी ! आपकी इतनी सुंदर व सार्थक रचना एवं आपके भावपूर्ण मधुर गायन के लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद , बधाई तथा आशीर्वाद !
आप पर माता की महती कृपा है तभी तो ऎसी रचना हुई ! उनके सिमरन मात्र से आपको प्रेरणाएँ मिलती रहेंगी !-अंकल आंटी [यू एस ए ]

kshama ने कहा…

Aapko bhee anek shubh kamnayen!

काश ऐसी हो जाए भारतीय नारी

चली है लाठी डंडे लेकर भारतीय नारी , तोड़ेगी सारी बोतलें अब भारतीय नारी . ................................................ बहुत दिनों ...