बुधवार, 15 जून 2011

मेरा मेल मुझे वापस मिल गया -हिप हिप हुर्रे ;;;;

बहुत खुश हूँ मैं इस वक़्त और आप सभी मेरी ख़ुशी में बराबर के हिस्सेदार हैं क्योंकि आप सभी के सहयोग और मुझ पर विश्वास ने मुझे इतनी दिमागी राहत  दी की मैं अपना इ-मेल आई डी पुनः प्राप्त करने में सफल हो गयी.रात १.३० पर मेरी बहन शिखा के निरंतर प्रयत्न ने हमें वापस मेरे मेल के पास पहुंचा दिया और तब जाकर मुझे राहत मिली और मैं रात को चैन से सो पाई.
मेरे मेल जो मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण  हैं उनके खोने से मेरे दिमाग ने काम  करना ही बंद कर दिया था और सबसे ज्यादा दुःख हो रहा था जब मेरे दिमाग में आया की ख़ुशी गोयल करनाल का एक आर्टिकिल अभी मेरे मेल में ही है जो मैं प्रकाशित नहीं कर पाई हूँ.जब मेरे मेल मुझे वापस मिले तब शिखा ने यही कहा की देखो  ख़ुशी जी के आर्टिकिल ने हमें मेल वापस दिला दिए.अभी तक मैंने यही महसूस किया है की जिन मेल आई डी पर मैंने अभी दो तीन दिन में मेल भेजे थे उन मेल पर ही हैकर ने मेल भेज कर उन्हें परेशान किया है.जब मैंने अपने मेल का मुख्य पृष्ठ देखा तो उसमे हैकर  ने निम्न परिवर्तन किये थे-
१-जन्म तिथि-२४.मार्च १९८८ कर दी थी .
२-प्लेस-united states कर दी गयी थी  .
३-स्टेट -अलबामा कर दिया गया था.
४-सिकुरिटी प्रश्न भी बदल दिया गया था.
                 चलिए फ़िलहाल तो मेरे दिमाग को राहत मिल गयी है और आगे के लिए सबक भी कि सावधानी की बहुत ज़रुरत है.जिनको मेरे इ-मेल हेक  से परेशानी भुगतनी पड़ी है उनसे मैं अपनी और से क्षमा मांगती हूँ की मेरी   लापरवाही से आप को कष्ट  हुआ है आगे से मैं टिप्पणियों के रूप    में प्राप्त  आप सभी    के मार्ग दर्शन में ही रहकर  अपने   कार्य करूंगी.एक बार फिर मैं अपनी ख़ुशी में आप सभी  को सम्मिलित    करती  हूँ और आप सभी  का  धन्यवाद्  भी.

12 टिप्‍पणियां:

Anita ने कहा…

अंत भला तो सब भला !

mahendra srivastava ने कहा…

क्या ये mail id भी हैक हो जाती है। इसमें अब आप सावधानी क्या बरत रही हैं। उसका जिक्र कीजिए ,जिससे दूसरे लोग भी सावधान रहें। आप मेल आईडी दोबारा हासिल करने में कामयाब रहीं, आपको बधाई

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

आपको मुबारक हो । कभी हम आपको बताएँगे कि नए इंटरनेट यूज़र हैकर के जाल में कैसे और कहाँ फंसते हैं ?
जहाँ आपने ईमेल भेजी वहाँ से यह हैक नहीं हुआ है ।

Ravikar ने कहा…

चलिए फ़िलहाल तो राहत मिल गयी ||
सावधानी की बहुत ज़रुरत है ||

जीवन का उद्देश ने कहा…

जीवन ही सावधानी का नाम है जहां हर कदम संभल कर रखना पड़ता है, कहीं फिसल न जाए। अल्लाह आप को भी और हमें भी अपनी सुरक्षा में रखे। बधाई स्वीकार करें।

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

Chalo achcha hai....

शालिनी कौशिक ने कहा…

aap sabhi ko meri khushi me sammilit hone ke liye aabhar.
dr.anwar jamal ji mera matlab ye hai ki jin mel par maine abi hal me hi mel kiye the hacker ne bi unhe sent item me dekha aur unhe hi pareshan karne kee koshish kee main ye nahi kah rahi hoon ki vahan se hack hua hai kya aisa sambhav nahi hai?
aur dr.s.m.masoom ji hack maine isliye mana hai ki jab maine apne mel i.d.ko vapas paya to maine usme date of birth ,state,country security question aadi me parivartan paya kya aise me mera ise hack sochna galat hai?
mahendra ji main aapke kahe anusar zaroor karoongi taki anya bloggar ko mere anubhav se kuchh fayada rahe.
anya sabhi sathi bloggars ka bhi main hardik dhanyawad karti hoon.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

मुबारक हो ...

ali ने कहा…

अपना पासवर्ड किसी को ना दें और समय समय पर उसे बदलती भी रहें !

बहरहाल मेल रिकवरी के लिए शुभकामनाएं !

Jyoti Mishra ने कहा…

sigh of relief !!!

Bhola-Krishna ने कहा…

शालिनी जी , हमारे पास भी शायद यही मेल आया था ! बेटा हम भुक्त भोगी हैं अस्तु कृष्णा जी ने वह मेल देखा और मुझे दिखाए बिना उसे डिलीट कर दिया अब उन्हें केवल यह याद है कि किसी ब्लॉग लेखिका का था और अंग्रेज़ी में था ! यहाँ USA में और विशेष कर U K से बहुदा ऐसे पत्र भेजे जाते हैं ! सुझाव : जिसके पास ऐसे मेल पहुचे उसे वह मेल तुरंत डिलीट कर देनी चाहिये इन पर कोई एक्शन नहीं लेना चाहिए ! हां , किसी प्रकार ,किसी दूसरे माध्यम से उस व्यक्ति को खबर दे देनी चाहिए जिसके द्वारा / जिसके इमेल का दुरूपयोग किया गया है ! ध्यान रक्खें कि उस इमेल पर पत्र न भेजें जिससे वह पत्र आया है !
यहाँ USA में जब किसी के इमेल से ऐसा खिलवाड़ होता है , वह तुरंत अपना e.mail identity और ,phone number तक बदल लेता है , जिससे आगे वह दुष्ट कोई और परेशानी न खड़ी करे !

आशुतोष की कलम ने कहा…

में बहार था आज पढ़ा इस दुर्घटना के बारे में..
सावधान रहें ...हर १०-१५ दिन पर बदल दें पासवर्ड

... पता ही नहीं चला.

बारिश की बूंदे  गिरती लगातार  रोक देती हैं  गति जिंदगी की  और बहा ले जाती हैं  अपने साथ  कभी दर्द  तो  कभी खुशी भी  ...