बुधवार, 13 अक्तूबर 2010

kasmir -a general state

आज कश्मीर को लेकर चर्चा का बाज़ार गर्म है.जिसे देखो इस मामले पर बोलकर अपनी राष्ट्रभक्ति प्रदर्शित कर रहा है.चलिए हम मान लेते हैं कि इस मामले पर विचार व्यक्त करने वाले सभी राष्ट्रभक्त हैं किन्तु आश्चर्य है कि कोई भी यह क्यों नहीं कहता कि कश्मीर को संविधान में विशेष दर्जा क्यों दिया गया है?भारत में जुड़े कुछ अन्य राज्यों क़ी तरह कश्मीर को भी क्यों नहीं रखा जाता?कश्मीर के महाराजा के आग्रह पर भारत ने कश्मीर क़ी मदद कीथी और उसे भारतीय गणतंत्र में सम्मिलित किया था किन्तु इसे विशेष दर्जा देना भारतीय  सरकार व भारतीय सेना के जवानो के लिए मारक बन गया.हम मानते हैं कि कश्मीर स्वर्ग है किन्तु उसे धरती वासियों के लिए ही रहने का इंतजाम करना चाहिए न क़ी मृत्यु के बाद का लोक बनाने का प्रयास.कश्मीर का बहुमत द्वारा सरकार को विशेष दर्जा समाप्त करना होगा और उसे भी भारतीय गणतंत्र के अधीन उसी तरह रहना होगा जैसेअन्य राज्य रहते हैं.     

1 टिप्पणी:

shikha kaushik ने कहा…

you have raised a very relevent issue.why indian govt. has given special status to j&k. govt. should given simliar status to aii states.

हस्ती ....... जिसके कदम पर ज़माना पड़ा.

कुर्सियां,मेज और मोटर साइकिल      नजर आती हैं हर तरफ और चलती फिरती जिंदगी      मात्र भागती हुई      जमानत के लिए      निषेधाज्ञा के...