गुरुवार, 7 अक्तूबर 2010

pyar

प्यार की जिंदगी में
         या
जिंदगी में प्यार की
अहमियत बहुत है;
यदि हो सभी में प्यार
प्यार से परिपूर्ण हो जीवन
तो उस जीवन की अहमियत बहुत है;
सभी प्राणी जाने प्यार को
सभी व्यक्ति जियें प्यार से
क्योंकि दुनिया में प्यार की
अहमियत बहुत है.

कोई टिप्पणी नहीं:

''बेटी को इंसाफ -मरने से पहले या मरने के बाद ?

   '' वकील साहब '' कुछ करो ,हम तो लुट  गए ,पैसे-पैसे को मोहताज़ हो गए ,हमारी बेटी को मारकर वो तो बरी हो गए और हम .....तारी...